• हिं

पुरुषों का प्री डायबिटिक होना उनकी फर्टिलिटी को प्रभावित कर सकता है. कुछ वर्ष पहले ही प्रकाशित एक शोध इस बात को साबित भी करता है. इस शोध के अनुसार, पुरुषों की फर्टिलिटी और प्री डायबिटीज के बीच गहरा संबंध है. यदि प्री डायबिटीज का पता नहीं लग पाता है और इसका इलाज नहीं किया जाता है, तो इससे पुरुषों को इनफर्टिलिटी की समस्या हो सकती है. प्री डायबिटीज की वजह से इनफर्टिलिटी की दिक्कत न हो, इससे बचने के लिए जरूरी है कि पौष्टिक भोजन का सेवन किया जाए और हफ्ते में कम से कम 5 बार एक्सरसाइज जरूर की जाए.

यहां दिए लिंक पर क्लिक कर जानिए पुरुष बांझपन का इलाज.

आज इस लेख में आप जानेंगे कि प्री डायबिटीज और पुरुष प्रजनन क्षमता आपस में कैसे संबंधित है -

(और पढ़ें - पुरुषों में बांझपन दूर करने के घरेलू उपाय)

  1. क्या है प्री डायबिटीज?
  2. प्री डायबिटीज और पुरुष का स्वास्थ्य
  3. प्री डायबिटीज और पुरुषों की प्रजनन क्षमता के बीच संबंध
  4. प्री डायबिटीज को कैसे ठीक किया जा सकता है?
  5. सारांश
प्री डायबिटीज का पुरुष प्रजनन क्षमता पर असर के डॉक्टर

प्री डायबिटीज ऐसी स्थिति है, जिसमें ब्लड ग्लूकोज स्तर सामान्य से ऊपर रहता है, लेकिन इतना भी ज्यादा नहीं कि इसे टाइप 1 डायबिटीज या टाइप 2 डायबिटीज कहा जाए. इसका मतलब है कि शरीर अपने ही इंसुलिन सप्लाई का सही तरह से इस्तेमाल नहीं कर पा रहा है. हालांकि, वजन कम करके और लाइफस्टाइल में बदलाव लाकर ब्लड ग्लूकोज के स्तर को नॉन डायबिटिक के दायरे में लाया जा सकता है.

(और पढ़ें - नींद का पुरुष की प्रजनन क्षमता पर असर)

प्री डायबिटीज को गंभीरता से लेने की जरूरत है. इसकी अनदेखी करने पर टाइप 2 डायबिटीज की समस्या हो सकती है. सेंटर फॉर डिजीज कंट्राेल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, जिस पुरुष में निम्न प्रकार के लक्षण नजर आते हैं, उसे प्री डायबिटीज होने की आशंका रहती है -

  • लंबाई की तुलना में वजन का ज्यादा होना.
  • 40 या इससे अधिक की उम्र होना.
  • परिवार में किसी का टाइप 2 डायबिटिक होना.
  • सप्ताह में 3 बार से कम एक्सरसाइज करना.

(और पढ़ें - पुरुष किस आयु तक संतान पैदा कर सकता है)

इस संबंध में बीजेयू इंटरनेशनल के मेडिकल जर्नल में 2018 में एक शोध प्रकाशित हुआ था. इस शोध के दौरान शोधकर्ताओं ने उन पुरुषों पर अध्ययन किया, जिन्होंने 12 महीने तक अपने पार्टनर के साथ बिना सुरक्षा के सेक्स किया, लेकिन उनकी पार्टनर प्रेग्नेंट नहीं हो पाईं.

इस शोध में 774 लोगों को शामिल किया गया था, जिसमें से 114 लोगों में प्री डायबिटीज पाया गया. साथ ही इन पुरुषों का फॉलिकल स्टिमुलेटिंग हार्मोन स्तर असामान्य रहा, स्पर्म डेंसिटी व स्पर्म काउन्ट कम और स्पर्म मूवमेंट भी ठीक नहीं थी.

यदि समय पर प्री डायबिटीज का इलाज न किया जाए, तो यह आगे चलकर टाइप 2 डायबिटीज में बदल सकता है. टाइप 2 या टाइप 1 डायबिटीज को ओवरऑल स्पर्म की क्वालिटी और कम स्पर्म मोटिलिटी और कम सीमेन वॉल्यूम से जोड़कर देखा जाता है. प्री डायबिटीज एक आम क्लीनिकल स्थिति है. पुरुषों की इनफर्टिलिटी के साथ इसके संबंध पर पहले कभी शोध नहीं किया गया है.

(और पढ़ें - लैपटॉप से पुरुष प्रजनन क्षमता पर असर)

जिन लोगों को प्री डायबिटीज है, उनके लिए डॉक्टर यह सलाह देते हैं कि उन्हें अपने वर्तमान के वजन का 5 से 7 प्रतिशत वजन कम करना चाहिए. इसके अलावा, पोषक तत्वों से युक्त भोजन कराना चाहिए. साथ ही सप्ताह में कम से कम पांच दिन एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए.

(और पढ़ें - पुरुष बांझपन का आयुर्वेदिक इलाज)

डायबिटीज और पुरुषों की इनफर्टिलिटी में हमेशा से सबंध रहा है, लेकिन प्री डायबिटीज और पुरुषों की इनफर्टिलिटी पर हाल में ही शोध किए गए हैं. इस शोध के अनुसार प्री डायबिटीज से पुरुषों को इनफर्टिलिटी की समस्या हो सकती है. इससे बचने के लिए जरूरी है कि खान-पान का खास ध्यान रखा जाए और सप्ताह में कम से कम 5 बार एक्सरसाइज जरूर की जाए. 

(और पढ़ें - पुरुषों में बांझपन के लिए फोलिक एसिड के फायदे)

प्रजनन संबंधी समस्या के लिए महिला हो या पुरुष दोनों ही Myupchar Ayurveda Prajnas का सेवन कर सकते हैं. इसे नियमित रूप से कम से कम 3 महीने तक लेने पर ही अच्छे रिजल्ट मिलते हैं -

Dr. Anurag Kumar

Dr. Anurag Kumar

पुरुष चिकित्सा
19 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ