मंडूकासन को फ्रॉग पोज भी कहा जाता है. यह योगासनों की मुख्य मुद्राओं में से एक है. इस आसन को करने पर शरीर की मुद्रा मेंढक के समान दिखाई देती है, इसलिए इसे मंडूकासन कहा जाता है. इस योग का अभ्यास घर में आसान तरीके से किया जा सकता है. नियमित रूप से मंडूकासन करने से कमर दर्द, मानसिक समस्याओं व डायबिटीज जैसी समस्याओं को कंट्रोल किया जा सकता है.

आज इस लेख में आप मंडूकासन के फायदे, करने का तरीका और सावधानियों के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - भद्रासन करने के फायदे)

  1. मंडूकासन के फायदे
  2. मंडूकासन करने का तरीका
  3. मंडूकासन से जुड़ी सावधानियां
  4. सारांश
मंडूकासन के फायदे व करने का तरीका के डॉक्टर

मंडूकासन के नियमित अभ्यास से डायबिटीज, कमर दर्द व मानसिक स्वास्थ्य में सुधार किया जा सकता है. इसके साथ ही इस मुद्रा के नियमित अभ्यास से शरीर को कई अन्य फायदे हो सकते हैं. आइए, इस फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं -

पीठ दर्द से दिलाए राहत

नियमित रूप से मंडूकासन का अभ्यास करने से पीठ दर्द की परेशानियों को दूर किया जा सकता है. यह योगासन पीठ के निचले हिस्से की जकड़न को कम कर सकता है, इससे साइटिका के दर्द को कम करने में मदद मिलती है. नियमित रूप से इस योग को करने से पीठ को मजबूत मिलती है. यह आसन उन लोगों के लिए आदर्श आसन हो सकता है, जो लंबे समय तक बैठकर काम करते हैं.

(और पढ़ें - हलासन करने के फायदे)

मानसिक स्वास्थ्य करे बेहतर

रोजाना मंडूकासन का अभ्यास करने से मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर किया जा सकता है. हाल ही में हुए रिसर्च से पता चलता है कि मंडूकासन का अभ्यास करने से स्ट्रेस रिलीज होता है. यह पुराने दर्द को कम कर सकता है. साथ ही जीवन की गुणवत्ता में सुधार करके मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकता है.

(और पढ़ें - वीरासन करने के फायदे)

डायबिटीज करे कंट्रोल

कई रिसर्च में इस बात को साबित किया जा चुका है कि योगासन और एक्सरसाइज के माध्यम से ब्लड शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है. यह डायबिटीज में होने वाली जटिलताओं को कम कर सकता है. मंडूकासन के अभ्यास से टाइप-2 डायबिटीज होने के खतरे को कम कर सकते हैं. ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए नियमित रूप से 30 सेकंड इस आसन का अभ्यास करना चाहिए.

(और पढ़ें - बद्ध कोणासन करने के फायदे)

ब्लड सर्कुलेशन को दे बढ़ावा

मंडूकासन का अभ्यास करने के बाद ब्लड सर्कुलेशन में सुधार किया जा सकता है. साथ ही यह आसन हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को कम करने में प्रभावी हो सकता है.

(और पढ़ें - सर्वांगासन करने के फायदे)

मंडूकासन को करना बिल्कुल भी मुश्किल नहीं है. आइए, मंडूकासन करने की पूरी प्रक्रिया के बारे में जानते हैं -

  • मंडूकासन योग करने के लिए सबसे पहले योग मैट बिछा लें.
  • अब मैट पर वज्रासन की मुद्रा में बैठ जाएं.
  • इसके बाद अपनी उंगलियों से अंगूठे को दबाते हुए दोनों हाथों की मुट्ठी बंद कर लें. 
  • इसके बाद दोनों हाथों की मुट्ठियों को आपस में मिलाते हुए पेट की नाभि के पास रखें.
  • ध्यान रहे कि दोनों हाथों के अंगूठे वाला भाग नाभि के पास अंदर की तरफ रहेगा.
  • अब सांस को बाहर की ओर छोड़ते हुए मुट्ठी से पेट को दबाते हुए आगे की ओर झुकें.
  • कुछ सेकंड इसी अवस्था में रहें और सामान्य गति से सांस लेते रहें.
  • फिर धीरे-धीरे सामान्य मुद्रा में वापस आएं.

(और पढ़ें - कर्नापीड़ासन करने के फायदे)

मंडूकासन का अभ्यास करने से शरीर के कई हिस्सों की कार्यप्रणाली बेहतर होती है, लेकिन ध्यान रखें कि इस आसन को सही और सुरक्षित तरीके से करना चाहिए और कुछ बातों को ध्यान में रखना चाहिए -

  • मंडूकासन में पीठ को ढीला न छोड़ें, बल्कि कोर को एक सीध में करें. साथ ही रीढ़ को सीधा रखने का प्रयास करें. 
  • घुटनों पर ज्यादा बल देने से बचें. 
  • इस योग के दौरान अगर असहज महसूस हो रहा है, तो कुछ देर के लिए रुक जाएं. 
  • अगर पीठ में तेज दर्द हो, तो इस आसन को नहीं करना चाहिए.
  • नाभि में किसी तरह की समस्या होने पर भी इस आसन को करने से बचना चाहिए.
  • हाल ही में पेट की सर्जरी हुई हो, तो मंडूकासन न करें.

(और पढ़ें - एकपद राजकपोतासन करने के फायदे)

मंडूकासन का अभ्यास करने से शरीर को कई फायदे हो सकते हैं. इससे डायबिटीज, स्ट्रेस व ब्लड प्रेशर इत्यादि को कंट्रोल किया जा सकता है. बस ध्यान रखें कि अगर कोई पहली बार मंडूकासन कर रहा है, तो उसे किसी एक्सपर्ट की निगरानी में ही इसे करना चाहिए. साथ ही इसे करने से पहले इस लेख में बताई गई सावधानियों को जरूर ध्यान में रखना चाहिए.

(और पढ़ें - आनंद बालासन करने के फायदे)

Dr. Avinash Ramsahay Mourya

Dr. Avinash Ramsahay Mourya

आयुर्वेद
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Amit Santosh Mishra

Dr. Amit Santosh Mishra

आयुर्वेद
25 वर्षों का अनुभव

Dr. Saurabh Patel

Dr. Saurabh Patel

आयुर्वेद
2 वर्षों का अनुभव

Dr. Gourav Vashishth

Dr. Gourav Vashishth

आयुर्वेद
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ