सर्जरी की जानकारी के लिए फॉर्म भरें।
हम 48 घंटों के भीतर आपसे संपर्क करेंगे।

विटरेक्टोमी सर्जरी विट्रियस (आंख में मौजूद जेल जैसा पदार्थ) को निकाल कर अन्य द्रव से बदलने के लिए की जाती है। यह आपकी आंख में विजन संबंधी समस्या को ठीक करने के लिए की जाती है जो कि आंख में डेब्रिस या रक्त का थक्का या फिर स्कार टिशू जाने के कारण ख़राब हो जाता है। डॉक्टर सर्जरी से पहले आपकी आंख की जांच करने के लिए कुछ मेडिकल टेस्ट करेंगे ताकि यह पता चल जाए कि आप सर्जरी के लिए स्वस्थ हैं। 

विटरेक्टोमी के लिए व्यक्ति को लोकल एनेस्थीसिया दिया जाता है। जिसका मतलब है कि सर्जरी का स्थान सुन्न रहेगा और आप सर्जरी के दौरान जगे होंगे। आपकी आंख को दर्द व संक्रमण से बचाने के लिए ऑय पैच लगाया जाएगा। सर्जरी के दो हफ्ते और फिर आठ हफ्ते बाद डॉक्टर के साथ फॉलो अप अपॉइंटमेंट किया जाएगा।

  1. विटरेक्टोमी सर्जरी क्या है - vitrectomy kya hai
  2. विटरेक्टोमी सर्जरी क्यों की जाती है - vitrectomy kyun ki jati hai
  3. विटरेक्टोमी सर्जरी की तैयारी - vitrectomy ki taiiyari
  4. विटरेक्टोमी सर्जरी कैसे की जाती है - vitrectomy kaise ki jati hai
  5. विटरेक्टोमी सर्जरी के बाद देखभाल - vitrectomy ke baad dekhbhaal
  6. विटरेक्टोमी सर्जरी के खतरे और जटिलताएं - vitrectomy ke khatre aur jatiltayen

विटरेक्टोमी में सर्जरी द्वारा विट्रियस द्रव को निकाला जाता है। विट्रियस आंख में मौजूद एक जेल जैसा पदार्थ होता है। सर्जरी के बाद विट्रियस के स्थान पर सिलिकॉन आयल, सेलाइन या फिर गैस बबल को लगाया जाता है। 

विट्रियस आंख के बीचों-बीच लेंस के पीछे मौजूद होता है। रौशनी विट्रियस से होते हुए रेटिना तक जाती है जो कि आंख के पीछे होता है। इसके बाद रेटिना इस रौशनी को दिमाग तक भेजकर सूचना ग्रहण करता है। 

कुछ स्थितियों में रक्त या कुछ पदार्थ रौशनी का रास्ता ब्लॉक कर देते हैं। ज्यादातर मामलों में विट्रियस में कोई खराब ऊतक के कारण भी रेटिना फट जाता है या डिस्प्लेस हो जाता है। इससे व्यक्ति को धुंधला दिखाई देता है। ऐसी स्थितियों में विटरेक्टोमी सर्जरी की जाती है जिससे आपके रेटिना पर पड़ा दबाव हट जाता है और रेटिना तक रौशनी पहुंच जाती है। 

यह सर्जरी निम्न प्रकार से होती है -

  • पोस्टीरियर पर्स प्लाना विटरेक्टोमी - इस तरह की सर्जरी रेटिना से जुड़ी समस्याओं को ठीक करने के लिए की जाती है 
  • एंटीरियर विटरेक्टोमी - कभी-कभी विट्रियस सोल्यूशन आंख के सामने वाले हिस्से में लीक हो जाता है। ऐसी स्थितियों में सर्जरी को एंटीरियर विटरेक्टोमी कहा जाता है।

आंख के डॉक्टर विटरेक्टोमी की सलाह निम्न स्थितियों में देते हैं -

  • आंखों में संक्रमण या आंख में गंभीर चोट
  • मैक्युला (रेटिना के मध्य भाग में एक छेद बनता है)
  • मोतियाबिंद सर्जरी के बाद उत्पन्न होने वाली समस्याएं
  • मधुमेह रेटिनोपैथी (मधुमेह की एक जटिलता जो आंखों को प्रभावित करती है)
  • यदि आपके रेटिना के मध्य भाग में एक शिकन बनती है
  • विट्रियस डिटैचमेन्ट (रेटिना से विट्रियस अलग हो जाता है)
  • रेटिना डिटैचमेन्ट (एक प्रमुख जटिलता जहां रेटिना आंख के पीछे से अलग हो जाती है)

उपरोक्त स्थितियों के कुछ सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं -

  • धुंधला दिखना
  • दृष्टि खोना
  • काले धब्बे या प्रकाश चमकता है
  • आंख का दर्द
  • दोहरी दृष्टि
  • आई फ्लोटर्स (विट्रियस में जमाव या संघनन)
  • दृश्य क्षेत्र पर एक पर्दे की तरह छाया
  • एक या दोनों आंखों में प्रकाश की चमक

सर्जरी से पहले, आपको निम्नलिखित तैयारी की आवश्यकता होगी :

मेडिकल टेस्ट - डॉक्टर आपकी आंख और पूरे स्वास्थ्य की जांच करेंगे। सर्जरी से पहले आपको इन आंखों के परीक्षण की आवश्यकता हो सकती है -

  • डाइलेटेड आई एग्जाम
  • स्लिट-लैंप परीक्षा
  • फ्लोरेसिन एंजियोग्राफी
  • ऑक्युलर कोहेरेन्स टोमोग्राफी (OCT)
  • रेटिनल फोटोग्राफी
  • अल्ट्रासाउंड

आंख की दर्दनाक चोट के कारण किसी भी नुकसान की जांच करने के लिए, निम्नलिखित परीक्षण किए जाते हैं -

भोजन और दवा -

  • आपको सर्जरी से पहले 8 घंटे तक कुछ भी नहीं खाने के लिए कहा जाएगा। सर्जरी के निर्धारित समय के आधार पर उपवास आधी रात से भी शुरू हो सकता है।
  • यदि आप आई ड्रॉप का उपयोग कर रहे हैं, तो उन्हें प्रक्रिया के दिन भी जारी रखा जा सकता है।
  • आपके डॉक्टर यह तय करेंगे कि क्या आपको सर्जरी होने तक नियमित दवाओं के साथ जारी रखना चाहिए।
  • यदि आप हृदय की समस्याओं, रक्तचाप, सांस लेने की समस्याओं, दौरे या चिंता के लिए कोई भी दवा ले रहे हैं हैं, तो आप इसे कुछ मात्रा में पानी के साथ ले सकते हैं।
  • आपको सर्जरी होने तक कोलेस्ट्रॉल कम करने वाली दवाएं, विटामिन या गर्भ निरोध की गोलियां जैसी दवाएं बंद करने के लिए कहा जाएगा।

यह सर्जरी निम्नलिखित तरीके से की जाती है -

  • सर्जरी के लिए आपको अस्पताल के कपड़े पहनने को कहा जाएगा।
  • आपको अपनी आंखों में टोपिकल एनेस्थीसिया (आई ड्रॉप्स) या इंजेक्शन लगाया जाएगा, ताकि सर्जरी के दौरान आपकी आंख में कुछ भी महसूस न हो। आप प्रक्रिया के दौरान जगे होंगे।
  • वैकल्पिक रूप से, आपको सर्जरी के दौरान सो जाने के लिए जनरल एनेस्थीसिया दिया जा सकता है।
  • सर्जन आपकी आंख तक पहुंचने के लिए आपकी आंख की बाहरी परत पर एक चीरा लगाएंगे।
  • फिर, वह / वह श्वेतपटल को काट देंगे जो कि आपकी आंख का सफेद भाग है फिर विट्रियस, किसी भी अन्य सामग्री या फिर खराब ऊतक को हटा देंगे ।
  • सर्जन आपकी आंख की अन्य समस्याओं को भी ठीक कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आपका रेटिना फट गया गया है, तो डॉक्टर इसे ठीक करने के लिए एक लेजर का उपयोग करेंगे या आपके रेटिना को अपनी स्थिति में रखने के लिए एक गैस बबल को इंजेक्ट करेंगे।
  • फिर, सर्जन विट्रियस को कुछ द्रव, जैसे, सेलाइन या सिलिकॉन तेल से बदल देंगे ।
  • वह टांके का उपयोग करके चीरों को बंद कर देंगे और संक्रमण को रोकने के लिए साइट पर एंटीबायोटिक लगाएंगे।
  • अंत में, डॉक्टर आपकी आंख को एक आई पैच के साथ कवर कर देंगे।

सर्जरी के बाद ठीक होने में आपको छह हफ़्तों तक का समय लग सकता है और आपको घर पर निम्न बातों का ध्यान रखना होगा -

  • सर्जरी के बाद प्रभावित आंख पर कुछ दिनों तक आई पैच पहने रहें 
  • संक्रमण से बचने के लिए आपको आई ड्राप डालने को कहा जा सकता है 
  • दर्द को ठीक रखने के लिए एस्पिरिन लेते रहें 
  • सर्जरी के बाद आप अपनी रोजाना की गतिविधियों पर लौट सकते हैं 
  • तीन हफ्तों तक गंभीर व्यायाम न करें
  • केवल घर के बाहर ही आराम और बचाव के लिए आई पैच पहने। इसे घर के अंदर पहनने की जरूरत नहीं है। यदि हल्के रंगों से आपको तकलीफ है तो आप गाढ़े रंग पहन सकते हैं
  • यदि आपकी आंख में गैस बबल लगाया गया है तो आपको उसी स्थिति में रहना होगा जब तक कि डॉक्टर आपको उसे हटाने की सलाह नहीं दे देते। इस दौरान आप गाड़ी नहीं चला सकते। साथ ही आप इस समय व्यायाम नहीं कर सकते
  • सर्जरी के बाद आप टीवी देख सकते हैं 
  • यदि आपको ठीक से दिख रहा है तो आप पढ़ भी सकते हैं 
  • सर्जरी के बाद आप अपने सामान्य आहार पर लौट सकते हैं 

यह एक प्रभावशाली सर्जरी है जो कि आपके विजन को सुधारने में मदद करती है।

डॉक्टर के पास कब जाएं?

 यदि आपको निम्न में से कोई लक्षण दिखाई देते हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को तुरंत बता दें -

  • दर्द या बेचैनी
  • ठीक तरह से दिखाई न देना
  • अधिक दर्द होना और विज़न का अब भी ठीक न होना

विटरेक्टोमी के बाद संभावित जोखिम इस प्रकार हैं -

  • संक्रमण
  • लेंस को नुकसान
  • मायोपिया या हाइपरमेट्रोपिया के लिए अपवर्तक त्रुटि में परिवर्तन
  • आंख में बढ़ा हुआ दबाव
  • अधिकतम खून बहना
  • मोतियाबिंद बनने की दर में वृद्धि

संदर्भ

  1. Johns Hopkins Medicine [Internet]. The Johns Hopkins University, The Johns Hopkins Hospital, and Johns Hopkins Health System; What is vitrectomy?
  2. Hull University Teaching Hospitals [internet]: NHS Foundation Trust. National Health Service. U.K., Vitrectomy
  3. American Society of Retina Specialists [Internet]. Illinois. US; Vitrectomy
  4. Beth Israel Lahey Health: Winchester Hospital [Internet]. Winchester. Maryland. US; Vitreous Hemorrhage.
  5. Diabetes UK [Internet]. London. UK; Diabetic Retinopathy.
  6. American Academy of Ophthalmology [internet]. California. US; Retinal Detachment: What Is a Torn or Detached Retina?
  7. National Eye Institute [Internet]. Bethesda (MD). National Institute of Health: U.S. Department of Health and Human Services; Retinal Detachment
  8. Omari A, Mahmoud TH. Vitrectomy. [Updated 2020 May 12]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2020 Jan
  9. UW Health: American Family Children's Hospital [Internet]. Madison (WI): University of Wisconsin Hospitals and Clinics Authority; Scleral Buckle and Vitrectomy
ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ