गर्भावस्था के दौरान प्रत्येक महिला शारीरिक व मानसिक बदलाव से होकर गुजरती है. इन बदलावों की वजह से महिलाओं को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है. शरीर से बदबू आना भी प्रेगनेंसी में होने वाले बदलावों का ही एक परिणाम है. गर्भावस्था में महिलाओं के शरीर से एक अलग गंध महसूस हो सकती है. हार्मोन बदलाव और अधिक पसीना आना इसके मुख्य कारण माने जाते हैं. 

आज इस लेख में आप जानेंगे कि गर्भावस्था के दौरान शरीर से बदबू आने के कारण व घरेलू इलाज क्या हैं -

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी के पहले महीने क्या खाना चाहिए)

  1. गर्भावस्था में शरीर से बदबू आने के कारण
  2. प्रेगनेंसी में शरीर की बदबू दूर करने के घरेलू इलाज
  3. सारांश
गर्भावस्था में शरीर से बदबू आने के कारण व घरेलू इलाज के डॉक्टर

गर्भावस्था के दौरान शरीर की गंध बदल सकती है या फिर शरीर से बदबू आ सकती है. गर्भावस्था की पहली तिमाही में शरीर से सामान्य से अधिक बदबू आ सकती है. प्रेगनेंसी में बदबू आने के निम्न कारण हो सकते हैं -

हार्मोनल बदलाव

प्रेगनेंसी में हार्मोनल बदलाव के कारण महिलाओं के शरीर से बदबू आ सकती है. ऐसा एस्ट्रोजन हार्मोन की वजह से होता है. एस्ट्रोजन पसीने को बढ़ाकर शरीर को थर्मोरेगुलेट यानी तापमान को संतुलित करने में मदद करता है. बिल्कुल यही प्रक्रिया मासिक धर्म चक्र के दौरान भी होती है. कुछ गर्भवती महिलाओं को रात में ज्यादा पसीना आता है. ऐसा हार्मोन में लगातार बदलाव के कारण होता है.

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में डायबिटीज हो, तो क्या खाएं)

अधिक पसीना आना

प्रेगनेंट महिलाओं के शरीर से पसीने की वजह से भी बदबू आ सकती है. दरअसल, गर्भावस्था में पसीने की ग्रंथियां काफी एक्टिव हो जाती हैं. इसकी वजह से महिलाओं को ठंडे तापमान में भी पसीना आ सकता है. वैसे तो इस पसीने में गंध नहीं होती है, लेकिन जब यह त्वचा पर रहता है, तो इससे बैक्टीरिया पनप सकते हैं. ये बैक्टीरिया शरीर में दुर्गंध का कारण बन सकते हैं.

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में होने वाली समस्याएं व समाधान)

डाइट में बदलाव

प्रेगनेंसी में महिलाएं हेल्दी डाइट लेती हैं, इसका असर पूरे स्वास्थ्य पर पड़ता है. अगर कोई महिला प्रेगनेंसी में मीट खाती हैं, तो उसके शरीर से घंटों तक बदबू आ सकती है, क्योंकि मीट में अमीनो एसिड होता है, जो शरीर की गंध को प्रभावित करता है. इसके अलावा, समुद्री भोजन पसीने और योनि स्राव के गंध को प्रभावित करता है. कुछ दवाइयां भी शरीर में बदबू का कारण बन सकती हैं.

(और पढ़ें - गर्भावस्था में नाभि में दर्द क्यों होता है)

थायराइड

थायराइड भी प्रेगनेंसी में शरीर से बदबू आने का एक कारण हो सकता है. गर्भावस्था के दौरान थायराइड हार्मोन में बदलाव हो सकता है. थायराइड हार्मोन तापमान, पाचन और शरीर के अन्य कार्यों को नियंत्रित करने में मदद करता है. अगर थायराइड ग्रंथि सामान्य से अधिक हार्मोन बनाती है, तो इससे रात में पसीना आ सकता है. इसकी वजह से महिला के शरीर से बदूब आ सकती है.

(और पढ़ें - गर्भावस्था के दौरान राउंड लिगामेंट दर्द)

शरीर में खून बढ़ना

गर्भावस्था के दौरान शरीर में खून की आपूर्ति 50 प्रतिशत तक बढ़ जाती है. ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि गर्भ में विकसित हो रहे शिशु तक पर्याप्त ऑक्सीजन व पोषण पहुंचाने के लिए अधिक खून की आवश्यकता होती है. ये अतिरिक्त खून ही शरीर में गर्मी का असहसास करवाता है, जिससे पसीना आता है.

(और पढ़ें - गर्भावस्था में पैरों की सूजन)

गर्भावस्था में शरीर से बदबू आना सामान्य है. अधिकतर महिलाओं को इसका सामना करना पड़ता है. अगर शरीर से अधिक गंध आने से गर्भवती महिला परेशान है, तो वो निम्न घरेलू उपायों को आजमा सकती है -

  • प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को रोज नहाना चाहिए. नहाने के लिए ठंडा या हल्का गुनगुना पानी इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • प्रेगनेंसी के दौरान हमेशा ढीले कपड़े पहने चाहिए. इससे पसीना आने पर जल्दी सूख जाता है और शरीर पर नहीं चिपकता, जिससे पसीने वाली बदबू से बचा जा सकता है.
  • प्रेगनेंसी में संतुलित व पोषक तत्वों से युक्त डाइट लेनी चाहिए.
  • खुद को हाइड्रेट रखें, इसके लिए खूब पानी पिएं.
  • समय-समय पर अंडरआर्म्स व जननांग के बालों को काटते रहें, ताकि वहां कम पसीना आए और बैक्टीरिया पैदा न हों.
  • प्याजलहसुन और समुद्री भोजन जैसे बदबूदार खाद्य पदार्थ खाने से बचें. इनकी जगह, कम गंध पैदा करने वाली सब्जियों व फलों का सेवन करें.
  • अगर इन उपायों को आजमाने बाद भी शरीर से आने वाली दुर्गंध कम नहीं होती है, तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में कैसे सोना चाहिए)

ये प्रेगनेंसी में शरीर से आने वाली बदबू के कारण और उसके घरेलू उपाय हैं. प्रेगनेंसी में शरीर से बदबू आ सकती है. यह शरीर में होने वाले बदलावों का एक सामान्य साइड इफेक्ट हो सकता है. अधिक पसीने के कारण शरीर से बदबू आने पर इस लेख में बताए गए घरेलू नुस्खों का उपयोग किया जा सकता है. वहीं, कुछ मामलों में डॉक्टर से मिलकर इसके इलाज की जरूरत पड़ सकती है.

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में शरीर का तापमान कैसे करें कम)

Dr. Swati Rai

Dr. Swati Rai

प्रसूति एवं स्त्री रोग
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Bhagyalaxmi

Dr. Bhagyalaxmi

प्रसूति एवं स्त्री रोग
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Hrishikesh D Pai

Dr. Hrishikesh D Pai

प्रसूति एवं स्त्री रोग
39 वर्षों का अनुभव

Dr. Archana Sinha

Dr. Archana Sinha

प्रसूति एवं स्त्री रोग
15 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ