माका एक प्रकार का पौधा है, जिसका वैज्ञानिक नाम लेपिडियम मेइन्नी है। इसे पेरुवियन जिन्सेंग के नाम से भी जाना जाता है। यह पौधा पेरू नामक देश के एंडीज पर्वत श्रृखला के लगभग 4000 मीटर के ऊंचाई में पाया जाता है। यह ब्रोकली, गोभी और पत्ता गोभी जैसी ही एक प्रकार की सब्जी है। दक्षिणी अमरीका के देश पेरू में इसका इस्तेमाल सदियों से दवाई के रूप में किया जाता है।

माका की जड़ का इस्तेमाल खाने के लिए किया जाता है। हालांकि यह कई रंग का होता है, अधिकांश रूप से लाल और काले रंग का होता है। माका की जड़ मुख्य रूप से सूखी होता है और इसे पाउडर के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा इसका कैप्सूल भी बाजार में मिलता है और यह तरल रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।

माका की जड़ के पाउडर का स्वाद कुछ लोगों को बुरा लग सकता है। बहुत से लोग इसको स्मूदी, ओटमील या किसी मीठी चीज में मिलाकर खाते हैं। हालांकि, इस बात का ध्यान रखें कि माका के बारे में ज्यादा शोध अभी पूरा नहीं हुआ है।

(और पढ़ें - ओट्स के फायदे)

  1. माका रूट के फायदे - Maca root ke fayde
  2. माका रूट के नुकसान - Maca root ke nuksan
  3. माका रूट के बारे में अन्य जानकारी - Maca root ke bare me anya jankari

माका रूट के फायदे पोषक तत्व प्रदान करने में - Maca root ke fayde poshak tatva pradan karne me

माका रूट के पाउडर में कई प्रकार के पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इसके अलावा यह विटामिन और खनिज का भी एक बहुत अच्छा स्रोत है।

माका रूट पाउडर कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का भी बहुत अच्छा स्रोत है। इसके साथ ही साथ इसमें वसा की मात्रा कम होती है और फाइबर की संतुलित मात्रा मौजूद होती है। इसमें फाइबर के साथ-साथ आवश्यक विटामिन, खनिज जैसे कॉपर, आयरन और विटामिन सी मौजूद होते हैं।

28 ग्राम माका रूट पाउडर में निम्न पोषक तत्व मौजूद होते हैं - 

(और पढ़ें - कम कार्बोहाइड्रेट वाला भोजन)

माका रूट के फायदे कामेच्छा बढ़ाने में - Maca root ke fayde kamecha badhane me

कामेच्छा संबंधित समस्या आज वयस्कों में बहुत अधिक देखने को मिलता है। हम सभी जानते हैं कि जड़ी-बूटियां यौन उत्तेजना में मदद करते हैं। ऐसे कई अध्ययन किए गए हैं, जो इस बात की पुष्टी करते हैं कि माका रूट यौन इच्छा बढ़ाने में मदद करती है।

एक अध्ययन में 131 प्रतिभागियों को शामिल किया गया और उन्हें 6 हफ्ते तक माका रूट खाने को दी गयी। 6 महीने के बाद पाय गया कि उन प्रतिभागयियों की कामेच्छा में सुधार आया।

(और पढ़ें - यौनशक्ति कम होने के कारण)

माका रूट के फायदे पुरूषों में प्रजनन क्षमता बढ़ाने में - Maca root ke fayde purusho me prajnan chhamta badhane

जब आप पुरूषों की प्रजजन क्षमता की बात करते हैं, तब शुक्राणुओं की संख्या और गुणवत्ता दोनों महत्वपूर्ण होते हैं। ऐसे कई तथ्य हैं, जो इस बात की पुष्टी करते हैं कि माक रूट पूरूषों की प्रजजन क्षमता बढ़ाने में मदद करता है। हाल ही में पांच अध्ययनों की समीक्षा की गई, जिसमें इस बात की पुष्टि की गई की माका रूट बांझ और स्वस्थ दोनों व्यक्तियों में वीर्य की मात्रा को बढ़ाता है। 

(और पढ़ें - बांझपन के घरेलू उपाय)

एक अध्ययन में कुछ लोगों को 4 महीने तक माका रूट खाने को दी गयी। 4 महीने के बाद इनके शुक्राणुओं की संख्या, मात्रा और गतिशीलता में सुधार देखा गया।

(और पढ़ें - शुक्राणु बढ़ाने के घरेलू उपाय)

माका रूट के फायदे रजोनिवृत्ति के लक्षणों से राहत दिलाने में - Maca root ke fayde menopause ke lakshan se rahat dilane me

रजोनिवृत्ति में एस्ट्रोजन नामक हार्मोन्स में कमी आती है, जसकी वजह से योनि में सूखापन, अचानक पूरे शरीर में गर्मी महसूस होना, मूड में परिवर्तन, नींद की समस्या और चिड़चिड़ापन जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। चार अध्ययनों की समीक्षा की गई, जिसमें देखा गया माका रूट महिलाओं में रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।

इसके अलावा जानवरों पर हुए अध्ययनों से इस बात का पता चला है कि यह हड्डियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डी से संबंधित एक रोग) का खतरा रजोनिवृत्ति के बाद अधिक रहता है। 

(और पढ़ें - रजोनिवृत्ति के लक्षण)

माका रूट के फायदे मानसिक स्थिति में सुधार लाने में - Maca root ke fayde mansik sthiti me sudhar lane me

ऐसे कई अध्ययन हैं जो इस बात की पुष्टि करते हैं कि माका रूट मानसिक स्थिति को बेहतर बनाने में मदद करता है। मानसिक स्थिति में सुधार इसलिए होता है, क्योंकि माका रूट चिंता और अवसाद के लक्षणों को कम करती है, खासकर उन महिलाओं में जिनके पीरियड्स आने बंद हो चुके हैं। माका में फ्लवोनोइड नामक यौगिक मौजूद होता है, जो मानसिक स्तर को बेहतर बनाता है। 

(और पढ़ें - मानसिक रोग का इलाज)

माका रूट के फायदे शारीरिक क्षमता बढ़ाने में - Maca root ke fayde sharirik kshamta badhane me

माका रूट पाउडर का इस्तेमाल बॉडी बिल्डर और एथलीट बहुत अधिक करते हैं। लोगों का मानना है कि यह मांसपेशियों के विकास और शारीरिक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। इसके साथ ही साथ यह व्यायाम करने की स्टेमिना को भी बढ़ाने में सहायक है। जानवरों पर हुए अध्ययनों से इस बात का पता चला है कि यह सहनशक्ति बढ़ाने में भी मदद करता है।

(और पढ़ें - स्टेमिना बढ़ाने के उपाय)

एक अन्य अध्ययन में 8 साइकिल चालक को शामिल किया गया। इन साइकिल चालकों ने 14 दिनों तक माका रूट पाउडर का सेवन किया। 14 दिनो बाद इन्होंने अपने शारिरिक ताकत में सुधार महसूस की। हालांकि, वर्तमान में कोई वैज्ञानिक सबुत नहीं है कि यह मांसपेशियों के लिए और ताकत को बढ़ाने में लाभदायक है या नहीं।

(और पढ़ें - बॉडी बनाने के तरीके)

माका रूट के फायदे सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने में - Maca root ke fayde surya ki hanikarak kirno se bachane me

सूर्य से निकलने वाली अल्ट्रावॉयलेट किरणें आपके त्वचा के लिए हानिकारक साबित होती हैं। त्वचा जब अधिक सयम तक अल्ट्रावॉयलेट किरणों के संपर्क में रहता है, तब यह झुर्रियों का कारण बनता है। इसके अलावा अल्ट्रावॉयलेट किरणों की वजह से त्वचा कैंसर का खतरा भी बढ़ता है। ऐसे कई साक्ष्य है जो इस बात की पुष्टि करते हैं कि माका रूट के रस को त्वचा पर लगा कर, स्किन को अल्ट्रावॉयलेट किरणों से बचाया जा सकता है।  

माका रूट में पॉलीफेनॉल नामक एंटीऑक्सीडेंट और ग्लूकोसाइनोलेट्स नामक यौगिक पाए जाते हैं। इन एंटीऑक्सीडेंट और यौगिक में सुरक्षात्मक प्रभाव होते हैं। ध्यान रहे कि माका रूट का रस सनस्क्रीन की जगह नहीं ले सकता है। यह तभी तक आपके त्वचा को सुरक्षित रखता है जब तक इसे आप अपनी त्वचा पर इस्तेमाल करते हैं। लेकिन जब आप माका रूट खाते हैं तब यह किसी भी तरह से आपके त्वचा के लिए लाभदायक नहीं होता है।

(और पढ़ें - सनबर्न का उपचार)

माका रूट के फायदे याददाश्त बढ़ाने में - Maca root ke fayde yadasht badhane me

माका रूट आपके दिमाग कि गतिविधियों में सुधार लाता है। पेरू नामक देश में लोग अपने बच्चों के दिमाग और प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए माका रूट खिलाते हैं।

(और पढ़ें - दिमाग तेज करने का नुस्खा)

चूहों पर हुए अध्ययन में इस बात की पुष्टी की गई कि माका रूट सीखने की प्रक्रिया और याददाश्त में सुधार लाता है, क्योंकि चूहों की याददाश्त कमजोर होती है। हालांकि, आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि काला माका रूट अन्य रंग के माका रूट से अधिक फाययदेमंद होता है।

(और पढ़ें - याददाश्त बढ़ाने के उपाय)

माका रूट के फायदे पौरूष ग्रंथि (प्रोस्टेट) के आकार को कम करने में - Maca root ke fayde paurush granthi ke aakar ko kam karne me

पौरूष ग्रंथि (प्रोस्टेट) पुरूषों में पाया जाने वाला एक ग्रंथि हैं, जो लिंग और मूत्राशय के बीच में स्थित होती है। उम्र बढ़ने के साथ-साथ प्रोस्टेट बढ़ना बहुत सामान्य है। इस ग्रंथि के बढ़ने पर कई प्रकार की समस्याएं होती हैं जैसे, पेशाब करने में। जिस नली के माध्यम से पेशाब बाहर निकलता है, उस नली को यह ग्रंथि पूरी तरह से घेर लेती है। चूहों पर हुए अध्ययन से इस बात की पुष्टी की गई है कि लाल माका रूट पौरूष ग्रंथि के आकार को छोटा करने में मदद करती है।

(और पढ़ें - यूरिन इन्फेक्शन सिम्पटम्स)

लाल माका रूट में ग्लूकोसाइनोलेट्स नामक यौगिक बहुत अधिक पाए जाते हैं, जो पौरूष ग्रंथि के आकार को छोटा बनाते हैं। इसके अलावा यह प्रोस्टेट कैंसर के खतरा को भी कम करते हैं।

(और पढ़ें - पेशाब में दर्द का इलाज)

माका रूट वैसे तो नुकसानदायक नहीं होता है। लेकिन पेरू देश के लोगों का मानना है कि ताजा माका रूट आपके स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। इसलिए इसे हमेशा उबाल कर खाना चाहिए।

इसके अलावा यदि आपको थायरॉइड की समस्या है तो माका रूट से सावधानी रखें। माका रूट में गोइत्रोगेंस नामक यौगिक मौजूद होता है, जो थायराइड ग्रंथि को प्रभावित करता है। इसके साथ ही साथ यह थायराइड की गतिविधियों को भी प्रभावित करता है। हालांकि, गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही माका रूट का सेवन करना चाहिए।

(और पढ़ें - थायराइड में परहेज)

माका रूट को आप आसानी से अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। इसे आप पूरक (सप्लीमेंट) के रूप में ले सकते हैं। इसके अलावा स्मूदी, ओटमील और बेक किए हुए खाद्य पदार्थों में शामिल करके खा सकते हैं।

अध्ययन के अनुसार एक दिन में माका रूट पाउडर को 1 से 5 ग्राम से अधिक नहीं खाना चाहिए। माका रूट पाउडर आपको बाजार में आसानी से मिल जाएगा। यह ऑनलाइन बाजार में भी उपलब्ध है। इसके अलावा इसके 500mg का कैप्लूस और तरल रूप में भी बाजार में मिलता है।

(और पढ़ें - संतुलित आहार का महत्व)


उत्पाद या दवाइयाँ जिनमें मैका है

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ