इचिनेशिया हर्ब फूलों वाला पौधा है. इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी वायरल गुण पाए जाते हैं. यही वजह है कि इचिनेशिया हर्ब संक्रमण, घाव व सामान्य सर्दी-जुकाम को ठीक करने के साथ ही यूटीआई को ठीक करने के लिहाज से फायदेमंद है. वहीं, इसके इस्तेमाल से कुछ लोगों को एलर्जी भी हो सकती हैं, जिससे खुजली, सूजन और सांस लेने में दिक्कत जैसे नुकसान हो सकते हैं.

आज इस लेख में आप विस्तार से जानेंगे कि इचिनेशिया हर्ब के फायदे व नुकसान क्या-क्या हैं -

(और पढ़ें - अकरकरा के फायदे)

  1. इचिनेशिया के जरूरी तत्व
  2. इचिनेशिया हर्ब के फायदे
  3. इचिनेशिया हर्ब के नुकसान
  4. सारांश
इचिनेशिया हर्ब के फायदे व नुकसान के डॉक्टर

इचिनेशिया हर्ब में कई सक्रिय कंपाउंड पाए जाते हैं. इसमें मुख्य रूप से कैफिक एसिड, एल्कामाइड्स, फेनोलिक एसिड, रोसमारिनिक एसिड, पॉलीएसिटिलीन, फ्लेवोनोइड्स, टेरपेनॉइड, लिपिड व नाइट्रोजन कंपाउंड शामिल होते हैं.

(और पढ़ें - विधारा के फायदे)

इचिनेशिया हर्ब में पाए जाने वाले कंपाउंड में एंटीमाइक्रोबियल और एंटी वायरल गुण होते हैं, जो इम्यून सिस्टम को मजबूती प्रदान करते हैं. साथ ही इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण की वजह से यह सामान्य सर्दी-जुकाम, संक्रमण और घाव को ठीक करने में भी मददगार है. यहां हम स्पष्ट कर दें कि इचिनेशिया के फायदों के संबंध में कम रिसर्च उपलबध हैं. आइए, इचिनेशिया हर्ब के फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं -

संक्रमण के लिए

इचिनेशिया हर्ब में एंटीवायरल एक्टिविटी पाई जाती है. इसलिए, किसी भी तरह के संक्रमण में इचिनेशिया हर्ब फायदेमंद हो सकती है, फिर चाहे सांस संबंधी समस्या हो या फिर कोरोना वायरस या फिर हर्पीज हो.

(और पढ़ें - निशोथ के फायदे)

घाव के लिए

इचिनेशिया हर्ब में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, जो घाव और सूजन को जल्दी ठीक करने में योगदान दे सकते हैं. शोध बताते हैं कि इचिनेशिया हर्ब सूजन व घाव के साथ ही क्रोनिक दर्द को भी काफी हद तक कम करने की क्षमता रखता है.

(और पढ़ें - अपामार्ग के फायदे)

सामान्य सर्दी-जुकाम

इचिनेशिया हर्ब का इस्तेमाल सामान्य सर्दी-जुकाम को ठीक करने के लिए भी किया जाता रहा है. यह कीटाणु और बैक्टीरिया के साथ-साथ अन्य माइक्रोऑर्गनिज्म को भी खत्म कर सकता है. यही वजह है कि कई एंटी एलर्जिक दवाओं में इचिनेशिया हर्ब का इस्तेमाल किया जाता है.

(और पढ़ें - वच के फायदे)

इंफ्लूएंजा

इचिनेशिया हर्ब में मौजूद एंटीवायरल एक्टिविटी की वजह से यह इंफ्लूएंजा वायरस को भी ठीक करने की क्षमता रख सकता है. फिलहाल, इस संबंध में अधिक मेडिकल रिसर्च उपलब्ध नहीं हैं.

(और पढ़ें - गोरखमुंडी के फायदे)

यूटीआई

इचिनेशिया हर्ब में एंटी फंगल एक्टिविटी पाई जाती है. इसमें मौजूद पॉलीसेकेराइड्स इंफेक्शन को कम कर सकते हैं, जिससे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन को ठीक होने में मदद मिल सकती है.

(और पढ़ें - चित्रक के फायदे)

त्वचा संबंधी रोग

अगर त्वचा में किसी तरह की रेडनेस, खुजली या दाने हो जाते हैं, तो भी इचिनेशिया हर्ब फायदेमंद है. शोध बताते हैं कि इचिनेशिया में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण मुंहासे के लिए जिम्मेदार प्रॉपिओनीबैक्टीरियम को पनपने नहीं देते हैं. कई क्रीम में इचिनेशिया के एक्स्ट्रैक्ट पाए जाते हैं, जो त्वचा संबंधी रोग को ठीक करने में कारगर पाए गए हैं. यह स्किन हाइड्रेशन में सुधार लाने और झुर्रियों को कम करने में भी सहायक है.

(और पढ़ें - गुड़मार के फायदे)

बेशक, इचिनेशिया हर्ब सुरक्षित है, लेकिन लंबे समय तब इसे इस्तेमाल करने पर कुछ नुकसान भी देखे गए हैं. हालांकि, ये नुकसान उन लोगों में ज्यादा देखे गए हैं, जिन्हें एलर्जी की समस्या रहती है.  आइए, इचिनेशिया हर्ब के नुकसान के बारे में जानते हैं - 

(और पढ़ें - सत्यानाशी के फायदे)

इचिनेशिया हर्ब का इस्तेमाल सामान्य सर्दी-जुकाम, संक्रमण, इंफ्लूएंजा व यूटीआई जैसे रोग में फायदेमंद साबित हो सकता है. वहीं, इसके कुछ नुकसान भी हैं, जैसे त्वचा में खुजली, सूजन व पेट में दर्द आदि. दरअसल लंबे समय के लिए इचिनेशिया हर्ब के इस्तेमाल से नुकसान होने की आशंका रहती है. इसलिए, बेहतर तो यह होगा कि इचिनेशिया हर्ब को लेने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ली जाए.

(और पढ़ें - गोटू कोला के फायदे)

Dr. Avinash Ramsahay Mourya

Dr. Avinash Ramsahay Mourya

आयुर्वेद
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Amit Santosh Mishra

Dr. Amit Santosh Mishra

आयुर्वेद
25 वर्षों का अनुभव

Dr. Saurabh Patel

Dr. Saurabh Patel

आयुर्वेद
2 वर्षों का अनुभव

Dr. Gourav Vashishth

Dr. Gourav Vashishth

आयुर्वेद
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ