कभी-कभी कमर दर्द इतना भयानक हो जाता है कि बिस्तर से उठने और हिलने-डुलने की हिम्मत तक नहीं होती. इस स्थिति में लगता है कि काश कुछ ऐसा हो जाए कि कमर दर्द जादू से गायब हो जाए.

ऐसे में एक्यूप्रेशर के जरिए कमर दर्द को कम करने में मदद मिलती है. एक्यूप्रेशर तकनीक में कुछ खास बिंदुओं पर दबाव डालकर इस दर्द को कम किया जा सकता है. सीवी6, बी23, बी47 जैसे एक्यूप्रेशर पॉइंट कमर दर्द से राहत दिलाने में मदद करते हैं.

आज इस लेख में आप कमर दर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट के बारे में जानेंगे -

(और पढ़ें - बवासीर के लिए एक्यूप्रेशर प्वाइंट)

  1. कमर दर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट
  2. सारांश
कमर दर्द में फायदेमंद एक्यूप्रेशर पॉइंट के डॉक्टर

कमर दर्द को ठीक करने में एक्यूप्रेशर पॉइंट अहम भूमिका निभाते हैं. इन सभी पॉइंट्स के बारे में हम नीचे विस्तार से बता रहे हैं -

CV6

यह एक्यूप्रेशर पॉइंट नाभि से 2 उंगली नीचे स्थित होता है. इस पर तर्जनी या मध्यम उंगली से दबाव डालना होता है.

(और पढ़ें - कब्ज के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट)

Joint Capsule
₹719  ₹799  10% छूट
खरीदें

B23 और B47

ये बिंदु पीठ के निचले हिस्से में दोनों ओर होते हैं. ये रीढ़ की हड्डी के दोनों ओर 2 उंगली की चौड़ाई पर स्थित होते हैं. इस पर दबाव डालने के लिए हाथों को कमर पर रखने के बाद अंगूठे को रीढ़ की ओर ले जाकर बिन्दु को ढूंढने के बाद दबाव डालना होता है.

B48 और GB30

B48 पॉइंट हिप की हड्डी के दोनों ओर रीढ़ की हड्डी के निचले हिस्से में बड़ी हड्डी के पास से लगभग दो उंगली की चौड़ाई पर स्थित होता है. वहीं, GB30 हिप की हड्डी के ऊपर और बट के नीचे बीच में स्थित होता है. दोनों ओर से इन 2 प्रेशर पॉइंट पर दोनों अंगूठे से हल्का दबाव डालना होता है.

(और पढ़ें - बंद नाक खोलने के एक्यूप्रेशर पॉइंट्स)

B53 और B54

घुटने के पीछे ठीक बीच में स्थित पॉइंट को B54 कहा जाता है. वहीं, थोड़ा-सा बाहर की ओर के पॉइंट को B53 कहा जाता है. इसके लिए पैरों को सीधा करके बैठना या खड़े होना होता है, इस समय दोनों हाथ घुटने के किनारे पर होने चाहिए. तर्जनी या मध्यम उंगलियों के साथ घुटने के खाली जगह में बिन्दु का पता लगाने के बाद मजबूती से दबाना होता है.

4GI

यह बिन्दु अंगूठे और तर्जनी उंगली के जोड़ से थोड़ा ऊपर स्थित होता है. दूसरे हाथ से अंगूठे और तर्जनी के बीच के बिन्दु पर दबाव डालना है. कुछ सेकंड के लिए जोर से दबाव डालने के बाद छोड़ देना होता है. ऐसा 4 से 5 बार दोहराना है. इसके बाद दूसरे हाथ पर इसी प्रक्रिया को दोहराना है. यह ध्यान रखना है कि 4GI कमर दर्द को कम तो करता है, लेकिन तभी जब व्यक्ति लेटा हुआ हो.

(और पढ़ें - सिरदर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट)

LIV3

LIV3 पॉइंट पैर के बड़े अंगूठे और दूसरी उंगली के बीच स्थित होता है, जहां ये दोनों आपस में जुड़ते हैं. यहां अंगूठे या तर्जनी उंगली के जरिए मजबूत दबाव डालना होता है, क्योंकि यह बिन्दु हल्का सॉफ्ट हो सकता है. इसी तरह दूसरे पैर पर दोहराना है.

Joint Pain Oil
₹494  ₹549  10% छूट
खरीदें

कमर दर्द में व्यक्ति की हालात खराब हो जाती है, कई बार तो दर्द इतना ज्यादा होता है कि हिलने-डुलने में भी दिक्कत होने लगती है. इस स्थिति में इन लेख में बताए गए एक्यूप्रेशर पॉइंट पर दबाव डालने से व्यक्ति को कमर दर्द से राहत मिलती है. यहां हम स्पष्ट कर दें कि खुद से एक्यूप्रेशर नहीं करना चाहिए. शुरुआत में इसे विशेषज्ञ से करवाना चाहिए और जब आप प्रशिक्षित हो जाएं, तभी खुद से करें.

(और पढ़ें - कमर दर्द के लिए डाइट)

Dr. Abhishek Chaturvedi

Dr. Abhishek Chaturvedi

ओर्थोपेडिक्स
5 वर्षों का अनुभव

Dr. G Sowrabh Kulkarni

Dr. G Sowrabh Kulkarni

ओर्थोपेडिक्स
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Shivanshu Mittal

Dr. Shivanshu Mittal

ओर्थोपेडिक्स
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Saumya Agarwal

Dr. Saumya Agarwal

ओर्थोपेडिक्स
9 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें