ओआरएस यानी ओरल रिहाइड्रेशन साल्ट, जो इलेक्ट्रोलाइट्स और कार्बोहाइड्रेट के मिश्रण से तैयार किया जाता है और पानी में घोलकर ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन बनाया जाता है. इसी कारण से ओआरएस को इलेक्ट्रोलाइट वाटर भी कहते है. इसमें सोडियम, पोटेशियम क्लोराइड, मैग्नीशियम क्लोराइड और सोडियम सिट्रेट जैसे इलेक्ट्रोलाइट्स पाए जाते है. शरीर में तरल पदार्थ और इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी हो जाने पर शरीर बुरी तरह से डिहाइड्रेट हो सकता है और डिहाइड्रेशन जानलेवा भी साबित हो सकता है. इसलिए एक्सपर्ट्स डिहाइड्रेशन से बचने और शरीर को रिहाइड्रेट करने के लिए ओआरएस पीने की सलाह देते हैं. आज हम इस लेख के में हम जानेंगे कि ओआरएस का घोल कब-कब लेना चाहिए.

(और पढ़ें - ओआरएस और इलेक्ट्रॉल पाउडर के बीच का अंतर)

  1. उल्टी और दस्त
  2. डिहाइड्रेशन
  3. कैसे बनाएं ओआरएस का घोल
  4. ओआरएस कितनी मात्रा में लें
  5. ध्यान रखने योग्य बातें
ओआरएस का घोल कब लेना चाहिए? के डॉक्टर

जब उल्टी और दस्त के कारण शरीर डिहाइड्रेट हो जाता है तब ओआरएस का इस्तेमाल किया जाता है. दस्त और उल्टी के शुरू होते ही शरीर में फ्लूइड और इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी हो जाती है, जिससे शरीर को एक्स्ट्रा फ्लूइड और इलेक्ट्रोलाइट की जरूरत पड़ जाती है. आमतौर पर यह कम उम्र के बच्चों में ज्यादा ही देखने को मिलता है और यह बहुत खतरनाक भी साबित हो सकता है. एक रिसर्च के अनुसार, दुनिया भर में हर 9 बच्चे में से 1 बच्चे की मृत्यु डायरिया से पीड़ित होने के कारण हो रहीं है. 

(और पढ़ें - दस्त रोकने के घरेलू उपाय)

Baby Massage Oil
₹252  ₹280  10% छूट
खरीदें

ओआरएस में मौजूद इलेक्ट्रोलाइट्स और पानी शरीर को रिहाइड्रेट कर डिहाइड्रेशन होने से बचाते हैं, जिससे शरीर में पानी का संतुलन बना रहता है. ट्रैवलिंग के दौरान ज्यादातर डिहाइड्रेशन की समस्या व्यस्कों में होती हैं, ऐसे में खुद को हाइड्रेट रखने के लिए ओआरएस का उपयोग करना अच्छा विकल्प हैं. हालांकि कुछ एथलीट और ट्रेनर खुद को हाइड्रेट रखने के लिए भी ओआरएस का उपयोग करते हैं.

(और पढ़ें - दस्त का होम्योपैथिक इलाज)

ओआरएस पाउडर बाजार से खरीद सकते हैं या ओआरएस घोल इस तरह घर पर बना सकते हैं -

  • ओरल रिहाइड्रेशन साल्ट को पानी के साथ मिलाने से ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन बनकर तैयार हो जाता है.
  • ओआरएस बनाने के लिए हमेशा 1 लीटर उबला हुआ या फिल्टर पानी का ही इस्तेमाल करें. एक बार ओआरएस को तैयार कर लेने के बाद इसे 1 घंटे के अंदर ही पी लेना चाहिए.
  • ओआरएस बनाते समय हमेशा पानी की सही मात्रा का उपयोग करें. ज्यादा या कम पानी होने पर ओआरएस पर्याप्त मात्रा में शरीर को रिहाइड्रेट नहीं कर पाता.
  • आप घर पर भी बेहद आसानी से ओआरएस बना सकते हैं. आप 1 लीटर पानी लें, उसमें पांच से छह चम्मच चीनी डालें और आधा चम्मच नमक डालकर इनका मिश्रण बना लें. इस मिश्रण को आप खुद को हाइड्रेट करने के लिए अपने उपयोग में ला सकते हैं

(और पढ़ें - दस्त की आयुर्वेदिक दवा)

ओआरएस कितनी मात्रा में पीना चाहिए यह आपकी उम्र पर निर्भर करता है, जैसे

  • 1 माह से 1 वर्ष तक की आयु के बच्चों को उनके सामान्य फ़ीड मात्रा के 1-1½ गुना तक ही ओआरएस पिलाना चाहिये, लेकिन बिना डॉक्टर की सलाह के ऐसा ना करें.
  • 1 वर्ष से 12 वर्ष तक की आयु के बच्चों को हर दस्त के बाद 200 mL ओआरएस का घोल  डॉक्टर की सलाह के बाद ले सकते हैं.
  • 12 वर्ष से ऊपर की आयु और व्यस्क व्यक्तियों को हर दस्त के बाद 200 mL - 400 mL ओआरएस का घोल देना चाहिए. 

(और पढ़ें - दस्त में क्या खाना चाहिए)

Badam Rogan Oil
₹399  ₹599  33% छूट
खरीदें

यदि आपको दो-तीन दिनों से डायरिया हो रहा है तो इसका उपचार करने के लिए आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए और ऐसी स्थिति में बिना डॉक्टर की सलाह के ओआरएस का उपयोग नहीं करना चाहिए. आमतौर पर ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन के कोई भी साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिलते है.

(और पढ़ें - नवजात शिशु को दस्त रोकने के उपाय)

Dr. Mayur Kumar Goyal

Dr. Mayur Kumar Goyal

पीडियाट्रिक
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Gazi Khan

Dr. Gazi Khan

पीडियाट्रिक
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Himanshu Bhadani

Dr. Himanshu Bhadani

पीडियाट्रिक
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Pavan Reddy

Dr. Pavan Reddy

पीडियाट्रिक
9 वर्षों का अनुभव

सम्बंधित लेख

बच्चों में कैल्शियम की कमी क...

Dr. Pradeep Jain
MD,MBBS,MD - Pediatrics
25 वर्षों का अनुभव

बच्चों में हर्निया के लक्षण,...

Dr. Pradeep Jain
MD,MBBS,MD - Pediatrics
25 वर्षों का अनुभव

नवजात शिशु के बाल झड़ना

Dr. Pradeep Jain
MD,MBBS,MD - Pediatrics
25 वर्षों का अनुभव
ऐप पर पढ़ें