नाभि को शरीर के सेंटर पॉइंट के रूप में जाना जाता है. इस पॉइंट को प्राचीन काल से ही स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ माना जाता रहा है. इसीलिए, पहले लोग नाभि में सरसों का तेल लगाने को इतना महत्व देते थे. इसका कारण सरसों के तेल के औषधीय गुण भी हैं. ऐसा माना जाता है कि केवल दो बूंद सरसों का तेल नाभि में डाल लेने से स्वास्थ्य से जुड़े आश्चर्यजनक लाभ मिल सकते हैं.

आज इस लेख में हम जानेंगे कि नाभि में सरसों का तेल लगाने के क्या-क्या फायदे होते हैं -

(और पढ़ें - नाभि में इन्फेक्शन)

  1. नाभि पर सरसों का तेल लगाने के फायदे
  2. सारांश
नाभि में सरसों का तेल लगाने के फायदे के डॉक्टर

नाभि पूरे शरीर की कार्यप्रणाली को कंट्रोल करती है. शरीर के लगभग सभी अंगों की रक्त वाहिकाएं नाभि से जुड़ी होती हैं. यही वजह है कि इसमें कई बीमारियों या स्थितियों को ठीक करने की क्षमता होती है. इसलिए, नाभि में औषधीय गुणों से भरपूर सरसों का तेल लगाने से शरीर के लगभग सभी अंगों तक पोषण आसानी से पहुंचाया जा सकता है. आइए, विस्तार से जानते हैं कि नाभि में सरसों तेल लगाने के क्या-क्या फायदे होते हैं -

महिलाओं के लिए सरसों के तेल के फायदे

अधिकांश महिलाओं को पीरियड्स के दौरान पेट के निचले हिस्से में दर्द महसूस होता है और इसे सहन करना मुश्किल हो जाता है. इस दौरान नाभि में सरसों का तेल लगाने से आराम मिल सकता है. दरअसल, सरसों के तेल में दर्द को कम करने के गुण मौजूद होते हैं, ऐसे में नाभि में तेल लगाने से यह गुण शरीर में अब्सॉर्ब हो सकता है और मासिक धर्म में होने वाले दर्द से राहत मिल सकती है.

(और पढ़ें - नाभि खिसकने के लक्षण)

Women Health Supplements
₹719  ₹799  10% छूट
खरीदें

हार्ट के लिए सरसों के तेल के फायदे

शरीर को फिट रखने के लिए हृदय का स्वस्थ रहना जरूरी है. नाभि में सरसों का तेल लगाने से हृदय को भी स्वस्थ रखने में मदद मिल सकती है. दरअसल, सरसों के तेल में मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड होते हैं और ये दोनों ही हृदय को प्रोटेक्ट करने के लिए महत्वपूर्ण है. इसलिए, कहा जा सकता है कि हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खाने के साथ-साथ नाभि में सरसों का तेल लगाना भी प्रभावी हो सकता है.

जोड़ों के लिए सरसों के तेल के फायदे

गठिया के प्रमुख लक्षणों में से एक है जोड़ों में दर्द और जोड़ों में सूजन. इस कारण मरीज को चलने में परेशानी हो सकती है. ऐसे में गठिया के घरेलू इलाज के तौर पर सरसों के तेल को नाभि में लगाने से फायदा हो सकता है. रिसर्च से पता चला है कि सरसों के तेल में गठिया-रोधी गुण होते हैं, जो गठिया के साथ-साथ दर्द को कम करने में भी मदद कर सकते हैं. ऐसे में अगर सुबह के समय नाभि में सरसों का तेल लगाया जाता है, तो यह गठिया के लिए असरदार साबित हो सकता है.

(और पढ़ें - नाभि में नारियल तेल लगाने के फायदे)

Joint Pain Oil
₹494  ₹549  10% छूट
खरीदें

कोलेस्ट्रॉल के लिए सरसों के तेल के फायदे

अगर हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या है, तो इस स्थिति में भी नाभि में सरसों का तेल लगाने से फायदा मिल सकता है. सरसों के तेल में अल्फा-लिनोलेनिक एसिड होता है, जो कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में मदद करता है. इस प्रकार से यह हृदय रोग के जोखिम को भी कम कर सकता है.

(और पढ़ें - हाई कोलेस्ट्रॉल का आयुर्वेदिक इलाज)

इंफेक्शन के लिए सरसों के तेल के फायदे

शरीर कई तरह के बैक्टीरिया और फंगस का शिकार हो सकता है. वहीं, सरसों का तेल बैक्टीरिया और फंगल इंफेक्शन को रोकने में मदद कर सकता है. दरअसल, सरसों का तेल एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है. इसलिए, इंफेक्शन से बचाव करने के लिए ये लाभकारी माना जाता है. यह गुण बैक्टीरिया और फंगस जैसे सभी प्रकार के इंफेक्शन के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकता है.

फर्टिलिटी के लिए सरसों के तेल के फायदे

सरसों का तेल ट्राइग्लिसराइड से भी भरपूर होता है, जो प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में सहायता करता है. रोजाना नाभि में सरसों का तेल लगाने और अच्छे से मसाज करने से यह पुरुष और महिलाओं दोनों की प्रजनन क्षमता में सुधार करने के लिए अच्छा माना जाता है. यह स्पर्म काउंट को भी बढ़ाने में मदद करता है.

(और पढ़ें - नाभि पर तेल लगाने के फायदे)

बालों के लिए सरसों के तेल के फायदे

नाभि में सरसों का तेल लगाने के फायदों में से एक है बालों का स्वस्थ होना. सरसों के तेल के एंटीफंगल और एंटी-बैक्टीरियल गुण बालों के झड़ने को रोकने में मदद कर सकते हैं. अगर रोजाना किसी के पास बालों में सरसों का तेल लगाने का समय नहीं है, तो सरसों का तेल नाभि में लगाने से भी फायदा मिल सकता है और इससे बाल स्वस्थ रहते हैं.

Hair Growth Serum
₹899  ₹1699  47% छूट
खरीदें

नाभि में सरसों का तेल लगाना लाभकारी होता है, क्योंकि इससे नाभि चक्र एक्टिव हो जाता है. इसे लगाने से स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याओं पर अच्छा प्रभाव पड़ता है. इसलिए, नाभि में नियमित रूप से सरसों का तेल लगाना चाहिए. वहीं, अगर कोई स्वास्थ्य से जुड़ी किसी समस्या का सामना कर रहा है, तो उस स्थिति में सरसों का तेल इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना आवश्यक है.

Dr Prashant Kumar

Dr Prashant Kumar

आयुर्वेद
2 वर्षों का अनुभव

Dr Rudra Gosai

Dr Rudra Gosai

आयुर्वेद
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Hemant Sharma

Dr. Hemant Sharma

आयुर्वेद
11 वर्षों का अनुभव

Dr. Padam Dixit

Dr. Padam Dixit

आयुर्वेद
10 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें