• हिं

Cipzer Dr Gyne Syrup

 141 लोगों ने इसको हाल ही में खरीदा
200 ml सिरप 1 बोतल ₹ 179 ₹199 10% छूट बचत: ₹20

  • उत्पादक: Cipzer
  • रखने का तरीका: सामान्य तापमान में रखें
  • विक्रेता: Cipzer Herbals
    • मूल का देश: India

    Cipzer Dr Gyne Syrup की जानकारी

    Cipzer Dr Gyne Syrup मुख्यतः मासिक धर्म की समस्या, और पीरियड्स में दर्द के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है। Cipzer Dr Gyne Syrup के मुख्य घटक हैं अनंतमूल, अश्वगंधा, बाला, दारुहल्दी, लोध्र, पिप्पली, वाचा, चिरायता, और कलौंजी जिनकी प्रकृति और गुणों के बारे में नीचे बताया गया है। Cipzer Dr Gyne Syrup की उचित खुराक मरीज की उम्र, लिंग और उसके स्वास्थ्य संबंधी पिछली समस्याओं पर निर्भर करती है। यह जानकारी विस्तार से खुराक वाले भाग में दी गई है।

    Cipzer Dr Gyne Syrup की सामग्री - Cipzer Dr Gyne Syrup Active Ingredients in Hindi

    अनंतमूल
    • ऐसा पदार्थ जो पाचन तंत्र को उत्तेजित करता है और भूख बढ़ाने में फायदेमंद होता है।
    • पाचन क्रिया और पेट को आराम देने वाले घटक।
    • वे दवाएं जिससे मासिक धर्म में रक्‍तप्रवाह को बढ़ाया जाता है।
    • पदार्थ या दवा जो लिवर के सामान्य कार्य की रक्षा करने में फायदेमंद है।
    • ऐसे घटक जो हीमोग्लोबिन और लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ाते हैं और एनीमिया का इलाज करते हैं।
    अश्वगंधा
    • सूजन को कम करने वाली दवाएं।
    • ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस (शरीर में एंटीऑक्सीडेंट्स और फ्री रेडिकल्स के बीच असंतुलन पैदा होना) को कम करने वाली दवाएं।
    • कामेच्छा को बढ़ाने के लिए उपयोगी एजेंट।
    • वे दवाएं जो प्रतिरक्षा प्रणाली पर काम कर इम्‍यून की प्रतिक्रिया में सुधार लाती हैं।
    • शरीर की ताकत को बढ़ाने वाले और शारीरिक गतिविधि को विकसित करने वाले सप्लीमेंट्स।
    बाला
    • ऐसी दवाएं जो दर्द को नियंत्रित करने और बेहोशी (सुधबुध खोने) रोकने के लिए इस्‍तेमाल की जाती है।
    • चोट लगने के बाद सूजन को कम करने वाली दवाएं।
    • वे तत्‍व जो खून बनाने में मदद करते हैं। इस तरह ये तत्‍व एनीमिया की स्थिति को नियंत्रित करते हैं।
    दारुहल्दी
    • दवाएं जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करके डायबिटीज का इलाज करती हैं।
    • ये दवाएं चोट के कारण होने वाली सूजन को कम करती हैं।
    • ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस (शरीर में एंटीऑक्सीडेंट्स और फ्री रेडिकल्स के बीच असंतुलन पैदा होना) को कम करने वाली दवाएं।
    • ये दवाएं लिवर के कार्य में सुधार करते हैं और इसे संक्रमण से बचाते हैं।
    • वे एजेंट्स जो सूक्ष्‍म जीवों को नष्‍ट या उनके कार्य को रोक कर माइक्रोबियल रेप्लिका (सूक्ष्‍म जीवों की प्रतिकृति) और इसको बढ़ने से बचाते हैं।
    लोध्र
    • एजेंट या तत्‍व जो सूजन को कम करने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं।
    • ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस (शरीर में एंटीऑक्सीडेंट्स और फ्री रेडिकल्स के बीच असंतुलन पैदा होना) को कम करने वाली दवाएं।
    • ये दवाएं लिवर के कार्य में सुधार करते हैं और इसे संक्रमण से बचाते हैं।
    • फर्टिलिटी को बेहतर करने के लिए जरूरी हार्मोंस के उत्पादन में मदद करने वाले एजेंट्स।
    • हार्मोंस को संतुलित करके महिलाओं में यौन स्वास्थ्य से संबंधित समस्याओं को ठीक करने वाले एजेंट्स।
    पिप्पली
    • चोट लगने के बाद सूजन को कम करने वाली दवाएं।
    • ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस (शरीर में एंटीऑक्सीडेंट्स और फ्री रेडिकल्स के बीच असंतुलन पैदा होना) को कम करने वाली दवाएं।
    • भूख बढ़ाने वाले एजेंट।
    • वो दवा जो पेट और आंत के काम को आसान कर पाचन तंत्र को बेहतर करती है।
    • वे दवाएं जो लिवर को संक्रमण से बचाने और उसे बेहतर तरीके से कार्य करने में मदद करती हैं।
    • वो दवा जो प्रतिरक्षा प्रणाली पर कार्य कर इम्यून को बेहतर करती है।
    • पाचक एंजाइम का स्त्राव उत्तेजित करके पाचन क्रिया को बेहतर करने वाली दवाएं।
    वाचा
    • ये दवाएं चोट के कारण होने वाली सूजन को कम करती हैं।
    • ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस (शरीर में एंटीऑक्सीडेंट्स और फ्री रेडिकल्स के बीच असंतुलन पैदा होना) को कम करने वाली दवाएं।
    • डिप्रेशन (अवसाद) के लक्षणों में राहत दिलाने वाली दवाएं।
    • ये दवाएं तंत्रिका तंत्र पर अपने असर और उत्तेजित नसों को शांत करने के लिए उपयोग की जाती हैं।
    चिरायता
    • चोट लगने के बाद सूजन को कम करने वाली दवाएं।
    • वे घटक जिनका इस्‍तेमाल फ्री रेडिकल्‍स की सक्रियता को कम करने और ऑक्‍सीडेटिव स्‍ट्रेस (मुक्त कणों के बनने और उनके शरीर के प्रति हानिकरक प्रभाव को न रोक पाने के बीच का असंतुलन) को रोकने के लिए किया जाता है।
    • ये दवाएं लिवर के कार्य में सुधार करते हैं और इसे संक्रमण से बचाते हैं।
    कलौंजी
    • एक दवा या एक एजेंट जो बेहोश किए बिना दर्द को कम करती है।
    • एजेंट या तत्‍व जो सूजन को कम करने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं।
    • शरीर में मौजूद ऑक्सीजन के मुक्त कणों को निकालने के लिए उपयोग होने वाले पदार्थ।
    • प्रतिरक्षा प्रणाली को ठीक करने वाले पदार्थ।

    Cipzer Dr Gyne Syrup के लाभ - Cipzer Dr Gyne Syrup Benefits in Hindi

    Cipzer Dr Gyne Syrup इन बिमारियों के इलाज में काम आती है -

    मुख्य लाभ



    Cipzer Dr Gyne Syrup की खुराक - Cipzer Dr Gyne Syrup Dosage in Hindi

    यह अधिकतर मामलों में दी जाने वाली Cipzer Dr Gyne Syrup की खुराक है। कृपया याद रखें कि हर रोगी और उनका मामला अलग हो सकता है। इसलिए रोग, दवाई देने के तरीके, रोगी की आयु, रोगी का चिकित्सा इतिहास और अन्य कारकों के आधार पर Cipzer Dr Gyne Syrup की खुराक अलग हो सकती है।

    आयु वर्ग खुराक
    व्यस्क(महिला)
    • मात्रा: निर्धारित खुराक का उपयोग करें
    • खाने के बाद या पहले: खाने के बाद
    • अधिकतम मात्रा: 15 ml
    • लेने का तरीका: गुनगुना पानी
    • दवा का प्रकार: सिरप
    • दवा लेने का माध्यम: मुँह
    • आवृत्ति (दवा कितनी बार लेनी है): दिन में दो बार


    Cipzer Dr Gyne Syrup के नुकसान, दुष्प्रभाव और साइड इफेक्ट्स - Cipzer Dr Gyne Syrup Side Effects in Hindi

    चिकित्सा साहित्य में Cipzer Dr Gyne Syrup के दुष्प्रभावों के बारे में कोई सूचना नहीं मिली है। हालांकि, Cipzer Dr Gyne Syrup का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह-मशविरा जरूर करें।



    संदर्भ

    Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. Volume- I. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1999: Page No 19-20

    Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume- II. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1999: Page No 34-36

    Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No - 112 - 113

    Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 4. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 2004: Page No - 105 - 106

    Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 2. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1999: Page No 177 - 179

    Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 98-100

    Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 157-158



    ₹179 ₹199.0 10% छूट
    एक बोतल में 200 ml सिरप