प्रोस्टेटाइटिस ऐसी स्थिति है, जिसमें प्रोस्टेट ग्रंथि में सूजन आ जाती है. प्रोस्टेटाइटिस दर्दनाक हो सकता है. इस स्थिति में पुरुषों को पेशाब और इजेकुलेट करते हुए दर्द हो सकता है. प्रोस्टेटाइटिस होने पर पुरुषों को पेरिनेम, वृषण, सुप्राप्यूबिक एरिया और लिंग में दर्द हो सकता है. पेरिनेम गुदा और अंडकोष के बीच का एरिया होता है. वहीं सुप्राप्यूबिक नाभि के बीच का हिस्सा होता है. इन हिस्सों में दर्द होना प्रोस्टेटाइटिस के लक्षण माने जाते हैं. प्रोस्टेटाइटिस से पीड़ित लोगों के मन में अक्सर सवाल आता है कि क्या इस स्थिति में सेक्स करना दर्दनाक होता है? या फिर क्या इस स्थिति में सेक्स किया जा सकता है?

आज इस लेख में आप जानेंगे कि प्रोस्टेटाइटिस की स्थिति में सेक्स करना सही है या नहीं -

(और पढ़ें - ज्यादा सेक्स करने के फायदे)

  1. प्रोस्टेटाइटिस में सेक्स कर सकते हैं या नहीं?
  2. सेक्स के जरिए प्रोस्टेटाइटिस कब फैलता है?
  3. प्रोस्टेटाइटिस से कैसे बचें?
  4. सारांश
क्या प्रोस्टेटाइटिस की अवस्था में सेक्स करना चाहिए? के डॉक्टर

प्रोस्टेट ग्रंथि में सूजन को प्रोस्टेटाइटिस कहा जाता है. यह अक्सर जीवाणु संक्रमण के कारण होता है. अध्ययनों में साबित हुआ है कि प्रोस्टेटाइटिस की स्थिति में सेक्स किया जा सकता है. इस स्थिति में सेक्स से बचने की जरूरत नहीं होती है. सेक्स करने से प्रोस्टेटाइटिस के लक्षण ट्रिगर नहीं होते हैं. सिर्फ इजेकुलेशन के समय मरीज को दर्द महसूस हो सकता है. दर्द की वजह से पुरुष सेक्स करने से बचने की कोशिश कर सकते हैं. कुछ रिसर्च का मानना है कि प्रोस्टेटाइटिस में सेक्स किया जा सकता है, क्योंकि यह संक्रमण सेक्स के जरिए आपके साथी तक नहीं पहुंच सकता है.

वहीं, दूसरी तरफ कई अध्ययनों में यह भी साबित हुआ है कि प्रोस्टेटाइटिस यौन संचारित संक्रमण के कारण भी हो सकता है. अगर प्रोस्टेटाइटिस से पीड़ित व्यक्ति के जननांगों पर कोई घाव है या घाव से रक्तस्राव हो रहा है, तो इस स्थिति में सेक्स करने से पहले एक बार डॉक्टर की राय जरूर लें.

(और पढ़ें - रोज शारीरिक संबंध बनाने से क्या होता है)

अगर सेक्स को सुरक्षित तरीके से किया जाता है, तो यौन संचारित संक्रमणों से बचा जा सकता है. वहीं, जब यौन संबंध असुरक्षित तरीके से बनाए जाते हैं, तो संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में जा सकता है. इसी तरह अगर प्रोस्टेटाइटिस वाला कोई व्यक्ति यौन संबंध के दौरान कंडोम का प्रयोग नहीं करता है, तो इसके बैक्टीरिया महिला साथी के मूत्रमार्ग में जा सकते हैं. मूत्रमार्ग वह ट्यूब होती है, जो मूत्र को शरीर से बाहर निकालती है.  

(और पढ़ें - सेक्स पॉजिटिव के फायदे)

प्रोस्टेटाइटिस जैसी स्थिति से बचने के लिए निम्न बातों पर ध्यान देने की जरूरत है -

  • संक्रमण को रोकने के लिए पेनिस और उसके आस-पास के क्षेत्र को साफ रखें.
  • लंबे समय तक एक ही जगह पर न बैठे रहें. इससे प्रोस्टेट ग्रंथि पर दबाव पड़ सकता है. इसकी वजह से प्रोस्टेट ग्रंथि में सूजन आ सकती है.
  • लंबी राइड लेने से भी बचना चाहिए. इससे भी प्रोस्टेट ग्रंथि में सूजन आ सकती है.
  • प्रोस्टेटाइटिस मूत्रपथ में बैक्टीरिया के कारण से भी हो सकता है. इसलिए, इससे बचने की पूरी कोशिश करनी चाहिए.
  • इसके लिए फलों और सब्जियों का अधिक मात्रा में सेवन करें. पोषक तत्वों से भरपूर खाना खाएं.
  • मसालेदार भोजन खाने से बचें. इसके साथ ही कैफीन और शराब का सेवन भी कम मात्रा में करें.
  • वजन कंट्रोल में रखें और पूरी नींद लेने की कोशिश करें. 

(और पढ़ें - सुबह सेक्स करने के फायदे)

प्रोस्टेटाइटिस प्रोस्टेट ग्रंथि में होने वाली सूजन है. यह संक्रमण और लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठने की वजह से हो सकता है. प्रोस्टेटाइटिस दर्दनाक हो सकता है. इस स्थिति में पेशाब और स्खलन के दौरान दर्द महसूस हो सकता है. ऐसे में अधिकतर लोग प्रोस्टेटाइटिस होने पर सेक्स करने से डरते हैं, लेकिन आप चाहें तो प्रोस्टेटाइटिस में सेक्स कर सकते हैं. बस ध्यान रहे कि सेक्स हमेशा सुरक्षित तरीके से ही करें.

(और पढ़ें - क्या सेक्स करने से हृदय स्वस्थ रहता है)

प्रीमेच्योर इजेकुलेशन या फिर इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसी समस्याओं के लिए पुरुष को urjas oil & capsule का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए -

Dr. Anurag Kumar

Dr. Anurag Kumar

पुरुष चिकित्सा
19 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ